समस्त ब्लॉग/पत्रिका का संकलन यहाँ पढें-

पाठकों ने सतत अपनी टिप्पणियों में यह बात लिखी है कि आपके अनेक पत्रिका/ब्लॉग हैं, इसलिए आपका नया पाठ ढूँढने में कठिनाई होती है. उनकी परेशानी को दृष्टिगत रखते हुए इस लेखक द्वारा अपने समस्त ब्लॉग/पत्रिकाओं का एक निजी संग्रहक बनाया गया है हिंद केसरी पत्रिका. अत: नियमित पाठक चाहें तो इस ब्लॉग संग्रहक का पता नोट कर लें. यहाँ नए पाठ वाला ब्लॉग सबसे ऊपर दिखाई देगा. इसके अलावा समस्त ब्लॉग/पत्रिका यहाँ एक साथ दिखाई देंगी.
दीपक भारतदीप की हिंद केसरी पत्रिका

4/12/14

इच्छा पुरानी-हिन्दी व्यंग्य कविता(ichchha purani-hindi satire poem)



र घर में रोशनी हो

हर गली में चमकती सड़क बनी हो

हर आवासीय क्षेत्र में उद्यान हो

मिल जाये हर जगह शुद्ध पानी,

हर बुद्धिमान ने विकसित समाज की

यही कल्पना सुखद मानी।

कहें दीपक बापू देश के विकास की बातें

बरसों से रोज हम सुनते हैं,

अनेक सपने अपने दिल में बुनते हैं,

इंतजार की कोई अवधि बताता नहीं,

बुरे हालातों के हम हो गये आदी

दर्द अब कोई सताता नहीं,

नये चेहरे नये वादे और नये शब्दों के साथ

पर्दे पर  चमकते नज़र आते है,

ज़माने में उम्मीद  जगाते हैं,

कभी नहीं बदलता कोई दृश्य

कुछ ही दिन में 

हो जाती हमारी इच्छा भी पुरानी।

-----------

लेखक एवं कवि-दीपक राज कुकरेजा ‘‘भारतदीप,
ग्वालियर मध्यप्रदेश
writer and poet-Deepak Raj kurkeja "Bharatdeep"
Gwalior Madhya Pradesh

कवि,लेखक संपादक-दीपक भारतदीप, ग्वालियर
http://rajlekh.blogspot.com 

यह आलेख इस ब्लाग ‘दीपक भारतदीप का चिंतन’पर मूल रूप से लिखा गया है। इसके अन्य कहीं भी प्रकाशन की अनुमति नहीं है।
अन्य ब्लाग
1.दीपक भारतदीप की शब्द पत्रिका
2.अनंत शब्दयोग
3.दीपक भारतदीप की शब्दयोग-पत्रिका
4.दीपक भारतदीप की शब्दज्ञान पत्रिका

2 comments:

SONU NANDESHWAR said...

Nice ..... very nice..............

send free unlimited sms anywhere in India no registration and no log in
http://freesandesh.in

SONU NANDESHWAR said...

Nice ..... very nice..............

send free unlimited sms anywhere in India no registration and no log in
http://freesandesh.in

हिंदी मित्र पत्रिका

यह ब्लाग/पत्रिका हिंदी मित्र पत्रिका अनेक ब्लाग का संकलक/संग्रहक है। जिन पाठकों को एक साथ अनेक विषयों पर पढ़ने की इच्छा है, वह यहां क्लिक करें। इसके अलावा जिन मित्रों को अपने ब्लाग यहां दिखाने हैं वह अपने ब्लाग यहां जोड़ सकते हैं। लेखक संपादक दीपक भारतदीप, ग्वालियर

विशिष्ट पत्रिकायें